23.6 C
New York
Wednesday, May 29, 2024

Buy now

spot_img

सिरमौर जिला में धान का रिकार्ड उत्पादन, धौलाकुंआ और पावंटा की मंडियों में अब तक कुल 3255 मीट्रिक टन धान का हुआ क्रय-राजेश्वर गोयल

सिरमौर जिला में धान का रिकार्ड उत्पादन, धौलाकुंआ और पावंटा की मंडियों में अब तक कुल 3255 मीट्रिक टन धान का हुआ क्रय-राजेश्वर गोयल
हि.प्र. राज्य नागरिक आपूर्ति के प्रबंधक निदेशक ने धान खरीद केन्द्र धौलाकुंआ और पांवटा साहिब का दौरा किया
नाहन, 27 अक्तूबर। हि.प्र. राज्य नागरिक आपूर्ति निगम के प्रबन्ध निदेशक राजेश्वर गोयल ने बताया कि इस बार जिला सिरमौर में धान का रिकॉर्ड उत्पादन हुआ है और धौलाकुंआ और पावंटा साहिब की दोनों मण्ड़ियों में अब तक कुल 3255 मीट्रिक टन धान किसानों से खरीदा जा चुका है। उन्होंने कहा कि किसानों की सुविधा हेतु धान खरीद केन्द्रों में समूची व्यवस्था की गई है।
हि.प्र. राज्य नागरिक आपूर्ति निगम के प्रबन्धक निदेशक राजेश्वर गोयल ने गत सांय धान खरीद केन्द्र धौलाकुआं और पांवटा साहिब के दौरे के अवसर पर यह जानकारी प्रदान की है।
प्रबंधक निदेशक ने अपने प्रवास के दौरान धान खरीद की व्यवस्थाओं का जायजा लिया और सम्बन्धित विभागों जैसे कृषि विभाग तथा कृषि उपज विपणन समिति के अधिकारियों के साथ भी धान खरीद से सम्बन्धित विस्तार से चर्चा की।
राजेश्वर गोयल ने कहा कि किसानों को उनकी उपज का मूल्य 48 घण्टे के भीतर सीधे किसानों के बैंक खातों में डाला जा रहा है तथा इस बात का विशेष ध्यान रखा गया है है कि किसानों को अपनी धान की फसल को बेचने में किसी भी प्रकार की समस्या का सामना न करना पड़े।
प्रबन्ध निदेशक ने अपने प्रवास के दौरान धान खरीद केन्द्र धौलाकुआं व पांवटा साहिब में किसानों से भी बातचीत की तथा उनकी समस्याओं को जाना व उसके निवारण हेतू निगम एवं कृषि विभाग तथा कृषि उपज विपणन समिति के सम्बन्धित अधिकारियों को आवश्यक दिशा-निर्देश जारी भी दिये। उन्होंने खरीद केन्द्रों में धान की सफाई हेतू झरनों की संख्या बढ़ाने एवं अन्य ज़रूरी व्यवस्थाएं उपलब्ध करवाने हेतु कृषि उपज विपणन समिति के उच्च अधिकारियों से भी बात की।
अपने प्रवास के दौरान प्रबन्धक निदेशक राजेश्वर गोयल ने चावल की मिलों का भी दौरा किया तथा उनकी कार्यप्रणाली का अवलोकन किया और साथ ही निर्देश दिये कि धान से चावल बनाने की प्रक्रिया में तेजी लाई जाए, जिससे कि पूरी प्रक्रिया को सुचारू रूप से निश्चित समय अवधि में पूरा किया जा सके।
उन्होंने बताया कि इस बार सरकार के दिशा-निर्देशों अनुसार धान से चावल बनाने के उपरान्त चावल को ‘‘फोर्टिफाई’’ किया जा रहा है, जिसके तहत चावल में सरकार द्वारा निर्धारित पोषक तत्वों को मिलाकर आम जनता को उपलब्ध करवाया जा सके।
हि.प्र. राज्य नागरिक आपूर्ति के मण्डलीय प्रबन्धक सोलन विजय शर्मा तथा क्षेत्रीय प्रबन्धक नाहन हुसन कश्यप व अन्य सम्बन्धित अधिकारी भी इस अवसर पर उपस्थित रहे।
.0.

Related Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay Connected

0FansLike
3,810FollowersFollow
0SubscribersSubscribe
- Advertisement -spot_img

Latest Articles