23.6 C
New York
Wednesday, May 29, 2024

Buy now

spot_img

विकासखंड पच्छाद में आरंभ हुआ आपदा प्रबंधन विषय पर तीन दिवसीय युवा स्वयंसेवक प्रशिक्षण कार्यक्रम..

विकासखंड पच्छाद में आरंभ हुआ आपदा प्रबंधन विषय पर तीन दिवसीय युवा स्वयंसेवक प्रशिक्षण कार्यक्रम..

उपायुक्त सिरमौर, सुमित खिमटा (भा. प्र. से.) के दिशा निर्देशों अनुसार जिला आपदा प्रबंधन प्राधिकरण, सिरमौर द्वारा तीन दिवसीय आपदा प्रबंधन विषय पर प्रशिक्षण कार्यक्रम विकासखंड, पच्छाद (बैठक हाल) में आयोजित किया जा रहा है।

इस कार्यक्रम के मुख्य अतिथि सामाजिक शिक्षा व खंड योजना अधिकारी (SEBPO), पच्छाद दर्शन लाल पुंडीर ने बताया कि इस तीन दिवसीय प्रशिक्षण कार्यक्रम में पच्छाद विकास खंड की की 7 पंचायतों (बजगा, जामन की सेर, कठार, काटली, लाना बाका, सुरला जनोट, टिकरी कुठार) से प्रत्येक पंचायत से 10-10 युवा स्वयंसेवक इस प्रशिक्षण कार्यक्रम में भाग ले रहे हैं।

उन्होंने बताया कि इस प्रशिक्षण कार्यक्रम में लगभग 73 युवा स्वयंसेवक प्रशिक्षित होंगे। इसके अतिरिक्त राजकीय महाविद्यालय, पच्छाद (सराहा) से भी लगभग 20 युवा स्वयंसेवक भी इस प्रशिक्षण कार्यक्रम में सक्रिय रूप से भाग ले रहे हैं।

मुख्य अतिथि ने बताया कि इस प्रशिक्षण कार्यक्रम का मुख्य उद्देश्य स्थानीय स्तर पर आपदा प्रबंधन विषय पर स्वयं सेवकों का गठन करना है जो कि किसी भी प्रकार की स्थानीय आपदाओं में प्रथम प्रतिक्रियाकरता के रूप में त्वरित सेवाएं दे सके व प्रशासन के लिए तुरंत सहयोगी बन सके।

सामाजिक शिक्षा व खंड योजना अधिकारी (SEBPO), पच्छाद एवं कार्यक्रम के मुख्य अतिथि दर्शन लाल पुंडीर ने बताया कि इस तीन दिवसीय प्रशिक्षण कार्यक्रम के प्रथम दिवस पर स्वयंसेवकों को बुनियादी आपदा प्रबंधन ढांचे व विभिन्न प्रकार की प्राकृतिक एवं मानव निर्मित आपदाओं के बारे में विस्तृत जानकारी प्रदान की जाएगी।

इसके अलावा विभिन्न मोबाइल एप्लीकेशन ( जैसे भूकंप ऐप, मेघदूत ऐप, मौसम ऐप, सचेत ऐप व दामिनी ऐप तथा डीडीएमए (DDMA) फेसबुक पेज आदि के बारे में विशेषज्ञों द्वारा जानकारी प्रदान की जाएगी।

दूसरे दिन गृह रक्षा एवं अग्निशमन विभाग द्वारा सुरक्षात्मक उपायों एवं विधियों के बारे में विशेषज्ञों द्वारा स्वयंसेवकों को खोज एवं बचाव, CPR व दैनिक अग्निशमन बचाव, प्रयोग व विधियों एवं साथ ही अन्य महत्वपूर्ण गतिविधियों के बारे में प्रशिक्षण प्रदान किया जाएगा।

इसी की निरंतरता में तीन दिवसीय प्रशिक्षण कार्यक्रम के अंतिम दिवस पर स्वास्थ्य विभाग द्वारा स्वयंसेवकों को प्राथमिक चिकित्सा उपचार, triage व अन्य महत्वपूर्ण स्वास्थ्य संबंधी जानकारियां जैसे कि मलेरिया, डेंगू, स्क्रब टायफस, सर्पदंश, मिर्गी, चोकिग, शीत लहर बचाव व इसके अतिरिक्त जानवरों के काटने संबंधी अन्य दैनिक आपदाओं के बारे में विस्तृत रूप से जानकारी स्वास्थ्य विभाग की विशेषज्ञों द्वारा प्रदान की जाएगी।

इस कार्यक्रम में विभिन्न पंचायतों से आए हुए जनप्रतिनिधि (प्रधान, वार्ड- सदस्य), ग्रामीण तथा युवा स्वयंसेवकों सहित उपायुक्त कार्यालय (आपदा प्रबंधन प्रकोष्ठ), नाहन से आए आपदा प्रबंधन समन्वयक राजन कुमार शर्मा, अरविंद चौहान एवं भूपेंद्र सिंह भी उपस्थित रहे।
-0-

Related Articles

97 COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay Connected

0FansLike
3,810FollowersFollow
0SubscribersSubscribe
- Advertisement -spot_img

Latest Articles